क्या आपको भी क्रेडिट कार्ड के खर्चों से परेशानी होती है कैसे पाएं क्रेडिट कार्ड के कर्ज से राहत

लगभग हर वह इंसान जो जॉब करता है या जो जॉब प्रदान करता है चाहे वह सेल्फ एंप्लॉयड हो या चाहे कोई किसान ही क्यों ना हो। हर किसी को क्रेडिट कार्ड की जानकारी होनी चाहिए होती है हर किसी की दिली इच्छा होती है कि उसे करेक्ट क्रेडिट कार्ड मिले । लेकिन कई बार होता है क्रेडिट कार्ड बोझ बन जाता है क्रेडिट कार्ड के सही इस्तेमाल ना करके लोग भारी कर्ज में डूब जाते हैं और फिर सालों साल उनको लग जाते हैं ईएमआई और लोन चुकाने में । तो कैसे पाएं क्रेडिट कार्ड के कर्ज से पूरा छुटकारा और कैसी होनी चाहिए प्रीपेमेंट गोल? कैसा होना चाहिए इसके लिए आप इन स्ट्रेटजी को अपना सकते हैं, आइए जानते हैं।

शॉपिंग के समय क्रेडिट कार्ड से सुविधा

यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड हो और आप शॉपिंग करना चाहते हैं तो उस टाइम पर यदि आपके पास डेबिट कार्ड ना हो तो फिर भी आप क्रेडिट कार्ड के सहारे कोई भी बैंकिंग या शॉपिंग सुविधा का लाभ उठा सकते हैं । यानी क्रेडिट कार्ड में पैसा पहले से ही होता है जिसको 1 तरीके से आप उधार लेते हैं तो क्रेडिट कार्ड के उस उधार के पैसे को आप इस्तेमाल करते हैं। लगभग हर बैंक अपने एलिजिबल कस्टमर्स को क्रेडिट कार्ड की सुविधा देते हैं । यह क्रेडिट सुविधा क्रेडिट कार्ड में होता है जो लोग क्रेडिट कार्ड अच्छे तरीके से इस्तेमाल करते हैं उनके लिए बहुत फायदेमंद होता है लेकिन जो लोग क्रेडिट कार्ड को ध्यान से यूज नहीं कर पाते । वह कर्ज के भारी भंवर में फंसते ही चले जाते हैं कई बार होता है कि उनके क्रेडिट कार्ड का पेमेंट टाइम पर नहीं हो पाता जिससे उनका क्रेडिट स्कोर डाउन हो जाता है बकाया राशि बढ़ जाती है पेनाल्टी भी देना पड़ता है ब्याज भी भरना पड़ता है लेकिन बहुत से छोटे-छोटे स्टेप है जो आप लेकर के क्रेडिट कार्ड के कर्ज से मुक्ति पा सकते हैं

छोटे छोटे गोल बनाएं क्रेडिट कार्ड कर्ज़ मुक्ति के लिए

यदि आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज से मुक्ति चाहते हैं तो स्ट्रेटजी या फिर छोटे छोटे गोल बनाने होंगे आपको कभी भी मिनिमम अमाउंट पे नहीं करना चाहिए, बल्कि मिनिमम अकाउंट से ज्यादा ही आपको चुकाना चाहिए । इससे आने वाला ब्याज चुकाने में कम ही होता है। यदि संभव है तो अपने क्रेडिट कार्ड के लोन को पर्सनल लोन ले करके चुका दें , और फिर पर्सनल लोन को आसानी से चुकाएं क्योंकि पर्सनल लोन का ब्याज बहुत कम होता है जबकि क्रेडिट कार्ड का ब्याज ज्यादा होता है कभी भी अपने क्रेडिट कार्ड का पेमेंट चुकाने में लेट ना करें । देरी ना करें । यदि अपने क्रेडिट कार्ड का पेमेंट चुकाने में आप देरी करते हैं तो बैंक का भरोसा आप पर उतना नहीं होता। अपने बैंकिंग ऐप के जरिए आप मिनिमम बैलेंस या अपने हिसाब से हर महीने कुछ बैलेंस पेमेंट ऑटोमेट सेट कर सकते हैं लेट पेमेंट का झंझट नहीं होगा।

कैसे पाएं 60,000 तक लोन 90 सेकंड में लोन मोबिक्विक से

खर्चो पर भी रखे नजर

जितने भी खर्चे हैं आप उन सभी खर्चों को कम बारे में सोचे, क्योंकि एक बार आपकी सारी कर्ज उतर गई , तो बाद में आप सब अपने हिसाब से मैनेज कर लेंगे, इसीलिए महीने का बजट सोच समझकर बनाएं उसमें भी क्रेडिट कार्ड के या पर्सनल लोन का जो कर्ज है उसका बिल अलग से उसने इंक्लूड करें।

जितने भी आपके क्रेडिट कार्ड हैं इन सबके पेमेंट आप या तो एक साथ बढ़ सकते हैं या फिर सारे क्रेडिट कार्ड के पेमेंट को एक पेमेंट बनाकर भी भर सकते हैं इसके लिए आपको अपने बैंक के रिलेशनशिप मैनेजर से बात करनी पड़ेगी तो जितने भी क्रेडिट कार्ड हैं उन सब की अमाउंट एक अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएगा और अलग-अलग पेमेंट करने के बजाय आप एक ही पेमेंट से क्रेडिट कार्ड का बिल चुका पाएंगे

अपने रिलेशनशिप मैनेजर से बात करें

आपका जिस बैंक का क्रेडिट कार्ड हो उस बैंक के अपने रिलेशनशिप मैनेजर से बात कर सकते हैं और उनसे परामर्श ले सकते हैं कि कैसे आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज़ से छुटकारा पाना चाहते हैं और इसके लिए क्या-क्या रूल्स अपनाएं आप या यदि आप उनको रि पेमेंट कर देते हैं तो इसके लिए टर्म्स और कंडीशन क्या-क्या है ? क्या आप किसी छूट के एलिजिबल हैं कि नहीं, आप अभी पैसा पे करने में असमर्थ है, इसके लिए भी बैंक को बताएं तो बैंक हर किसी कस्टमर को किस्त में पैसा चुकाने का एक बढ़िया रास्ता सुझाव देती है लेकिन इसके लिए आपको बैंक को अप्रोच करना पड़ेगा अपने रिलेशनशिप मैनेजर को।आपका क्रेडिट कार्ड किसी भी बैंक का हो सकता हैं जैसे की पंजाब नेशनल बैंक , अमेरिकन एक्सप्रेस बैंक, ऑफ बड़ौदा,बजाज फिनसर्व,एक्सिस बैंक, सिटी बैंक, एचडीएफसी बैंक, होम क्रेडिट, फेडरल बैंक, एचएसबीसी, आईसीआई बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट, इंडसइंड बैंक, j&k बैंक आरबीएल बैंक,कोटक महिंद्रा और स्टैंडर्ड चार्टर्ड, जेस्ट मनी और एसबीआई या दूसरे बैंक के क्रेडिट कार्ड भी।

एसबीआई जीरो बैलेंस खाता ऐसे खुलवाएं

क्रेडिट कार्ड के बोझ से छुटकारा पाने के लिए यह तरीके अपनाएं

  • इसके अलावा यह छोटे स्टेप्स भी आपको काफी काम आएंगे क्रेडिट कार्ड के कर्ज से छुटकारा पाने में।
  • क्रेडिट कार्ड का यूज़ उतना ही कीजिए जितना आप 30 दिन बाद या 45 दिन बाद पे कर पाएंगे।
  • यदि क्रेडिट कार्ड का बैलेंस जो आपको पे करना वह ज्यादा हो चुका है तो आप उसे ईएमआई में कन्वर्ट कर ले या पर्सनल लोन लेकर के क्रेडिट कार्ड के उस कर्ज को चुका दें क्योंकि पर्सनल लोन का ब्याज कम होता है क्रेडिट कार्ड का ज्यादा होता है।
  • अपना क्रेडिट स्कोर, सिबिल स्कोर बढ़ाने की कोशिश करें जिससे आपका ब्याज दर क्रेडिट कार्ड पे काफी कम हो जाता है एक बार आपका सिविल स्कोर बढ़ जाए तो आप अपने बैंक से बात कर सकते हैं ब्याज दर कम करने के बारे में।
  • अपने क्रेडिट कार्ड्स की तुलना करें जिस क्रेडिट कार्ड पर ज्यादा हिडन चार्ज होते हैं उन्हें बंद करवा दो।
  • हमेशा मिनिमम बैलेंस पे करने की कोशिश ना करें प्रयास करें कि अपने क्रेडिट कार्ड का 25 परसेंट मिनिमम आप पे करें।
  • छोटे-मोटे खर्चों को या ब्याज को या किसी पेनल्टी को या एक्स्ट्रा जीएसटी को इग्नोर ना करें।
  • क्रेडिट कार्ड के खर्चे या पेनाल्टी को लेकर के सतर्क रहें किसी भी मामले में आप कुछ ऊपर नीचे देखें तो अपने बैंक के एग्जीक्यूटिव को कॉल करके सारी जानकारी पूछ सकते हैं।
  • यदि आप छोटे-मोटे जीएसटी चार्जेस को इंक्लूड करेंगे तो पाएंगे साल भर में 3000 से ₹4000 आपके सिर्फ ब्याज पर चले जाते हैं जिसको आप ट्रैक भी नहीं करते।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *