आरबीएल और वीजा में अनुबंध मास्टरकार्ड बैन होना एक बड़ा कारण ऐसे मिलेगा क्रेडिट कार्ड

जैसा कि पिछले दिनों रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानी आरबीआई ने मास्टर कार्ड पर बैन लगा दिया था तो इसके बाद सभी भारतीय बैंक दूसरे ऑप्शंस की तलाश में है जिसने पहला स्टेप आरबीएल बैंक ने लिया और आरबीएल बैंक और वीजा का अनुबंध हुआ है इसके बाद अब दोबारा से आरबीएल क्रेडिट कार्ड अपने कस्टमर को देगा

वीजा पेमेंट नेटवर्क आर आर बी एल बैंक के अनुबंध के बाद अब नए सिरे से आरबीएल बैंक अपने ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड देगा जुलाई में भारतीय रिजर्व बैंक के डाटा लोकलाइजेशन नियमों को ना मानने पर 14 जुलाई 2021 को मास्टर कार्ड भारत में बैन हो गया था। बहुत सारे इंडियन बैंक है जैसे कि एचडीएफसी, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आरबीएल, आईसीआईसीआई बैंक मास्टर कार्ड पर पूरी तरह डिपेंड थे । ऐसे में यह बैंक अपने लिए नया ऑप्शन तलाश कर रहे थे जिसमें की वीजा काम आया।

कैसे पाएं क्रेडिट कार्ड के कर्ज से राहत

मास्टर कार्ड के बैन होने के बाद ही 14 जुलाई को आरबीएल और वीजा में अनुबंध हो गया था । जैसा की आप सभी को पता होगा कि आरबीएल बैंक का टेक्नोलॉजी पार्टनर finserv है आरबीएल बैंक के मुताबिक 2022 में 12 से 14 लाख क्रेडिट कार्ड अपने ग्राहकों को देंगे । वही वीजा पेमेंट के बिजनेस डेवलपमेंट हेड सुजई रैना इस बात से काफी खुश हैं और दूसरे और बैंकों के साथ भी अनुबंध की तरफ देख रहे हैं आरबीएल बैंक का क्रेडिट कार्ड मार्केट में 37.5% भागीदारी रखती है जो कि अगर देखा जाए तो पूरे भारत की मार्केट की 5% है आरबीएल का लक्ष्य है 100000 क्रेडिट कार्ड 1 साल में हम ग्राहकों को देंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *