क्या रिश्तेदार से ले सकते हैं लोन? क्या ब्याज में टैक्स पर छूट मिलती है?

वर्तमान में कोविड-19 ने जीवन को चेंज कर दिया है लगभग हर किसी की जिंदगी चेंज हो गई है ऐसे में कोई किसी बैंक से उधार ले रहा है, तो कोई किसी एनबीएफसी से उधार ले रहा है तो बहुत से लोग अपने मित्रों से उधार लेते हैं या रिश्तेदारों से भी उधार लेते हैं तो ऐसे में टैक्स बचाना है। टैक्स के दायरे में भी नहीं आना है , या टैक्स लगता है कि नहीं लगता है, इस पर आइए जानते हैं पूरी जानकारी।

80सी के तहत ये हैं टैक्स में छूट के प्रावधान

यदि आप अपने पिता से लोन, होम लोन लेते हैं या फिर किसी दूसरे तरीके का लोन लेते हैं तो आपको जो डेढ़ लाख रुपए की छूट मिलती है वह आपको नहीं मिल पाएगी यानी आयकर अधिनियम की धारा है 80 सी के तहत इस पर डेढ़ लाख की छूट नहीं मिलेगी आपको यदि धारा 80 सी के तहत छूट लेना है तो किसी निजी बैंक या सरकारी बैंक या दूसरे एनबीएफसी से कर्ज लेना चाहिए ।

जबकि आयकर की अधिनियम धारा 24 के अंतर्गत ब्याज पर दो लाख की टैक्स छूट का यदि आपको फायदा उठाना है तो ऐसे में पिता की तरफ से ब्याज सर्टिफिकेट विभाग को देना होगा ऐसे में व्यय किए यह राशि आपके पिता का ही एक आमदनी का सोर्स माना जाएगा, इनकम सोर्स माना जाएगा और इन्हें इनकम टैक्स रिटर्न में भी दिखाना पड़ता है।

ऑटो स्वीप फैसिलिटी सेविंग बैंक अकाउंट

अधिकतम ₹50000 तक दे सकते हैं कर्ज अपने वॉलेट से

यदि आप अपने मोबाइल के जरिए अपने किसी दोस्त रिश्तेदार या किसी मित्र को कर्ज देना चाहते हैं। या सहायता राशि देना चाहते हैं तो अधिकतम ₹50000 तक आप दे सकते हैं। इसे तोहफे के रुप में भी दे सकते हैं और ₹50000 तक की टैक्स छूट गए मिल जाती है बड़े आसानी से, यदि इसके अतिरिक्त आप कुछ देते हैं तो वह राशि टैक्स के तहत आ जाता है।

साथ ही सिर्फ ₹50000 तक ही अपने पहचान वाले या फिर अपने दोस्तों से आप जो राशि प्राप्त करते हैं वही टैक्स छूट का फायदा मिलता आपको, इससे एक भी रुपया ज्यादा फिर टैक्स लगने की स्थिति में आ जाएगा, यानी 50,000 से ज्यादा की राशि टैक्स के अंतर्गत आती है।

कैसे करें पोस्ट ऑफिस से बैंक में पीपीएफ अकाउंट ट्रांसफर

कितना अमाउंट ले सकते हैं एन आर आई रिश्तेदार से या कितने समय के लिए

यदि आप अपने किसी n.r.i. रिश्तेदार से लोन ले रहे हैं तो ध्यान रखिए कि इसकी समय सीमा सिर्फ 3 साल होती है और ऐसे में उस अनिवासी भारतीय की कर्ज राशि 2.50 लाख डॉलर से ज्यादा ना हो , और साथ में जो कर्ज लिया जा रहा है वह बैंक वाले कर्ज से दो ही % ऊपर नीचे हो सकता है ।

ऐसे समझ सकते हैं मान लीजिए कोई बैंक 4 फीसदी पर ब्याज दे रहा है उस कर्ज पर तो आप 6 फ़ीसदी का कर्ज ब्याज दर ले सकते हैं और साथ ही आप बिना व्याज के 2.5 लाख डॉलर किसी भी अन्य रिश्तेदार को दे सकते हैं जोकि एन आर आई हो सकता हो या हो।

यदि आप अपने किसी दोस्त या रिश्तेदार से कर्ज लेते हैं तो ₹20000 से ज्यादा की राशि यदि हुई तो इनकम टैक्स के अनुसार ₹20000 तक की ही जुर्माना लग सकता है तो ऐसे में किसी से कर्ज लेते समय चाहे किसी रिश्तेदार से या यार दोस्त से आपको ध्यान रखने वाली बात देनी होगी कि 20000 से ऊपर कोई अमाउंट रिसीव ना करें कर्ज के रूप में , वरना वह उतनी ही बराबर टैक्स देना पड़ेगा आपको ऐसा इनकम टैक्स की 269 के अंतर्गत आता है।

कैसे पाएं 60,000 तक लोन 90 सेकंड में लोन मोबिक्विक से

यदि आप किसी सिचुएशन से बचना चाहते हैं तो सबसे बढ़िया बात होता है कि आप लोन एग्रीमेंट भी बनवा सकते हैं यह चाहे किसी मित्र से पैसे ले हो या फिर चाहे किसी रिश्तेदार से पैसे लिए हो इसके लिए गया ब्याज या ऐसे किसी भी चीज को दर्शाने के लिए ज्यादा अच्छा जो विकल्प होता है वह होता है लोन एग्रीमेंट बनवा लेना, क्योंकि आयकर विभाग के मांग लेने पर आप एक ही दस्तावेज उपलब्ध करा देते हैं तो आप की जांच जायज टैक्स छूट का आपको फायदा मिल सके

कैसे पाएं क्रेडिट कार्ड के कर्ज से राहत

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *